भारत सरकार अधिनियम 1919 के उद्देश्य, गुण और दोष (Government of India Act 1919)

भारत सरकार अधिनियम 1919

भारत सरकार अधिनियम 1919 की प्रष्ठभूमि भारत सरकार अधिनियम 1919 भारतीयों के स्वशासन की माँग को पूर्ण न कर सका। साम्प्रदायिक आधार पर मतदान प्रणाली की नीति से उत्पन्न असंतोष, 1916 में कांग्रेस तथा मुस्लिम लीग के मध्य समझौता, 1916-17 में प्रकाशित मेसोपोटामियाँ आयोग की रिपोर्ट में अंग्रेजों को भारत में शासन के लिए अक्षम बताया …

Read more..

भारत परिषद अधिनियम 1909 (मार्ले-मिंटो सुधार अधिनियम) – My Hindi GK

भारत परिषद अधिनियम 1909

भारत परिषद अधिनियम 1909 भारत परिषद अधिनियम 1909 (Indian Council Act 1909): इस भारत परिषद अधिनियम 1909 को तत्कालीन भारत सचिव (मॉर्ले) तथा वायसराय (मिन्टो) के नाम पर “मार्ले-मिन्टो सुधार अधिनियम” भी कहा जाता हैं। सर अरुण्डेल समिति की रिपोर्ट के आधार पर इसे फरवरी 1909 में पारित किया गया था। भारत परिषद अधिनियम 1909 (मार्ले-मिन्टो …

Read more..

चार्टर एक्ट 1858, 1861 तथा 1892 की पूरी जानकारी – My Hindi GK

चार्टर एक्ट

चार्टर एक्ट, 1858 (भारत सकार अधिनियम) चार्टर एक्ट 1858 लॉर्ड पामर्स्टन (Lord Palmerston) ने 12 फरवरी, 1858 ई0 को भारत में दोहरे शासन के दोषों को दूर करने के लिए एक विधेयक संसद के सम्मुख प्रस्तुत किया। किन्तु कतिपय कारणों से पामर्स्टन को त्यागपत्र देना पड़ा। इसके पश्चात् लॉर्ड जरबी (Lord Derby) प्रधानमंत्री बने। उनके …

Read more..

चार्टर एक्ट 1853 के उद्देश्य, गुण और दोष (Charter Act 1853) – My Hindi GK

चार्टर एक्ट 1853

1853 के चार्टर अधिनियम का इतिहास चार्टर एक्ट 1853 भारतीयों दूारा कम्पनी के प्रतिक्रियावादी शासन के समाप्ति की माँग तथा गवर्नर जनरल लार्ड जलहौजी दूारा कम्पनी के शासन में सुधार हेतु प्रस्तुत रिपोर्ट के सन्दर्भ में पारित किया गया था। इस 1853 के चार्टर अधिनियम दूारा विधायी कार्यों को प्रशासनिक कार्यों से अलग करने की …

Read more..

Charter Act 1833 in Hindi – चार्टर एक्ट 1833 की पूरी जानकारी

Charter Act 1833 in Hindi

Charter Act 1833 in Hindi (चार्टर एक्ट 1833) Charter Act 1833 in Hindi (चार्टर एक्ट 1833) से पहले भारत में कम्पनी के साम्राज्य में काफी वृद्धि हुई, जिस पर समुचित नियन्त्रण स्थापित करने के लिए ब्रिटिश संसद ने इससे पहले 1814, 1823, तथा 1829 में अधिनियम दूारा कम्पनी को कुछ अधिकार प्रदान किया। किन्तु ये …

Read more..

रेग्युलेटिंग एक्ट 1773 के उद्देश्य, गुण और दोष (Regulating Act 1773)

रेग्युलेटिंग एक्ट 1773

भारतीय संविधान का उद्विकास रेग्युलेटिंग एक्ट 1773 की अन्य विशेषताएँ: इस रेग्युलेटिंग एक्ट 1773 अधिनियम के द्वारा ई आई सी के राजनीतिक और राजस्व संवंधी अधिकार ब्रिटिश संसद के अधीन ला दिए गए। अर्थात निदेशक मण्डल के द्वारा इन 2 मामलों में गवर्नर जनरल से प्राप्त रिपोर्ट को संसदीय समिति के समक्ष प्रस्तुत करना होता। …

Read more..

error: Content is protected !!