विश्व हिन्दी दिवस 2023 – World Hindi Divas क्यों मनाया जाता हैं।

विश्व हिन्दी दिवस:

सभी हिंदी प्रेमियों के लिए 10 जनवरी का दिन बेहद खास और महत्वपूर्ण होता है। हिंदी की लोकप्रियता को लेकर दुनियाभर में प्रतिवर्ष 10 जनवरी को विश्व हिंदी दिवस (World Hindi Divas) मनाया जाता है। इस दिन का उद्देश्य दुनियाभर में हिंदी का प्रचार-प्रसार करना और लोगों में हिन्दी की जागरूकता पैदा करना है। अंतरराष्ट्रीय भाषा के तौर पर हिंदी को स्थापित करने का भी उद्देश्य है।

विश्व हिन्दी दिवस

2022 विश्व हिन्दी दिवस की शुरुआत:

पूर्व प्रधानमन्त्री मनमोहन सिंह ने 10 जनवरी 2006 में प्रत्येक वर्ष की इसी तारीख़ को विश्व हिन्दी दिवस के रूप में घोषित किया गया ।

इसी मौके पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने भारतीय दूतावासों में 10 जनवरी 2006 को पहली बार विश्व हिन्दी दिवस मनाया ।

विश्व हिन्दी सम्मेलन:

बतौर भाषा हिन्दी का विकास व प्रसार करने के मकसद से विश्व हिन्दी सम्मेलनों की शुरुआत की गई । जो कि हिन्दी भाषा का सबसे बड़ा अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन होता है जिसमें विश्व भर से हिन्दी विद्वान , साहित्यकार , पत्रकार , भाषा विज्ञानी , विषय विशेषज्ञ तथा हिन्दी प्रेमी जुटते हैं ।

विभिन्न क्षेत्रों में हिन्दी के प्रयोग को प्रोत्साहन देने तथा हिन्दी के प्रति प्रवासी भारतीयों के रिश्तों को मजबूती प्रदान करने हेतु तत्कालीन प्रधानमन्त्री श्रीमती इन्दिरा गांधी की पहल पर वर्ष 1975 में प्रथम अंतर्राष्ट्रीय हिंदी सम्मेलन आयोजित हुआ था ।

अब तक 11 विश्व हिन्दी सम्मेलन हो चुके है और आगामी 12 वां सम्मेलन अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में प्रस्तावित है ।

विश्व हिन्दी दिवस का उद्देश्य:

हिन्दी भाषा को विश्व भाषा के रूप में प्रस्तुत करते हुए में इसके प्रचार – प्रसार के लिए जागरूकता पैदा करना । उसके बाद से भारतीय विदेश मंत्रालय ने विदेश में 10 जनवरी 2006 को पहली बार विश्व हिन्दी दिवस मनाया था

विश्व हिंदी दिवस पर होने वाली गतिविधियाँ और कार्यक्रम:

विश्व हिंदी दिवस पर कुछ सामान्य कार्यक्रमों में हिंदी भाषा और उसके साहित्य पर सेमिनार, या प्रोग्राम होते हैं। इन कार्यक्रमों के आयोजनों में अक्सर सार्वजनिक हस्तियों, विद्वानों और मशहूर हस्तियों द्वारा भाग लिया जाता है जो भाषा को बढ़ावा देने में रुचि रखते हैं।

इन औपचारिक आयोजनों के अलावा विश्व हिंदी दिवस के कई अनौपचारिक समारोह भी होते हैं। इनमें हिंदी संगीत, नृत्य और कविता की विशेषता वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम, प्रदर्शन और प्रतियोगिताएं शामिल हो सकती हैं।

लोग विश्व हिंदी दिवस का उपयोग भाषा के अपने व्यक्तिगत अनुभवों और टिप्पणियों को साझा करने के अवसर के रूप में भी करते हैं। इसमें हिंदी सीखने की उनकी अपनी यात्रा को साझा करना या उनके जीवन में भाषा के महत्व पर चर्चा करना शामिल हो सकता है।

कुल मिलाकर, विश्व हिंदी दिवस एक साथ आने और दुनिया भर में हिंदी और इसके बोलने वालों की समृद्ध सांस्कृतिक और भाषाई विरासत का जश्न मनाने का समय है।

Leave a Comment